• Domain Name क्या हैं
  • Domain Name काम कैसे करता हैं ?
  • Domain Name कितने प्रकार के होते हैं ?​
  • Domain Name खरीदते समय ध्यान देने योग्य जानकारी ?

Domain नाम क्या होता हैं ?

यह प्रश्न दिमाग मे सबसे पहले आता हैं ।

यह नाम तभी आता हैं जब हमे इसकी जरूरत होती हैं जैसे किसी website या ब्लॉग बनाने , Compition Exam , स्कूल,कॉलेज या किसी दोस्त से लेकिन इसे कहना गलत हैं की हमने इसे कभी नही सुना । तभी तो आप  Search कर रहे हो । 

यह आप वैबसाइट बनाए किसी कंपनी के पास जाते हैं वो भी Domain Name और WebHosting का नाम जरूर लेगा । क्यू की यह तय हैं चलो इसके बारे मे ओर जाने …… । 

Domain Name क्या हैं ?

चलो हम समझते हैं सरल भाषा मे domain नाम क्या होता होता हैं ।

इस chapter मे मैंने अच्छे से लिखा रखा आप इसे आराम से पढ़ें 

दुनिया मे जीतने भी कम्प्युटर व mobile होते है वो सारें इंटरनेट से जुड़े होते है। 

वो अपना एक कम्प्युटर या मोबाइल  नेटवर्क बनाते हैं ।

अब बात आती हैं कैसे जुड़े होते हैं ?

कम्प्युटर और मोबाइल एक Address से जुड़े होते हैं उस Address को Technical भाषा मे IP Address कहते हैं 

अब आप कहेंगे की ये कोनसी  बला हैं ।

चलो इसको और सरल करते हैं ।

अपनी ज़िंदगी का एक उदाहरण लेते हैं ।

मेरा आधार कार्ड हैं जिससे  ID Number से मेरी पहचान होती हैं न मेरे नाम की क्यू नाम एक जैसे हो सकते हैं पर number हमेशा अलग होते हैं ।

उसी तरह से हर मोबाइल और कम्प्युटर का खुदका IP Address होता हैं ।  

IP Address दिखने मे ऐसे होते हैं । 

 

 हर कम्प्युटर या मोबाइल का खुदका एक ip address होता हैं जिसके माध्यम से हम internet से जुड़ सकते हैं 

IP Address अंकों के नंबर का होता हैं ।

जब वैबसाइट बनाना Public हुआ तो लोगो ने वैबसाइट बनाने लगे तब वैबसाइट की संख्या बढ़ती गई 

 जिससे लोगो को वैबसाइट का नाम याद रखना वो भी अंको भी नामुमकिन से जैसा लगने लगा

 तब Domain Name  का idea आया । फिर लोगो ने domain Name का इस्तेमाल हुआ ।

 मानव की याद करने की क्षमता की बात करें तो वह नंबर के बजाए नाम आसानी याद रख सकता हैं । 

 

Domain Name काम कैसे करता हैं ?

चलो हम समझते हैं सरल भाषा मे domain नाम क्या होता होता हैं ।

इस chapter मे मैंने अच्छे से लिखा रखा आप इसे आराम से पढ़ें 

जिस तरह हम किसी भी सर्च इंजिन का इस्तेमाल करते हैं तब तब हमारी IP Address की request Telecommunication  के पास जाती हैं और वो इंटरनेट को request भेजता हैं फिर उस request को मान लेता हैं हमें वो results आसानी से मिल जाता हैं वो तरीका बहुत लंबा हो जाता हैं तब गूगल ने सभी को अपने सर्वर को access के लिए DNS(Domain Name System) का IP Address जिससे उसे सीधा access कर सकते बिना टेलीकम्यूनिकेशन को request गूगल सीधा ही request मान लेगा .

Google का DNS IP Address

8.8.8.8

8.8.4.4

Real Life Example

जिस तरह हम घर बनाते हैं तो हमे तीन चीजों के जरूरत होती हैं

 

घर का addres   उसी तरह वैबसाइट का address होता हैं
घर के लिए जमीन    

  उसी तरह वैबसाइट की जमीन होती हैं जिसे हम web hosting कहते हैं

घर के लिए मजदूर        उसी तरह आप या किसी को वैबसाइट को बनाने के जिसे देते हो वो मजदूर

                                               

Domain Name कितने प्रकार के होते हैं ?

चलो हम समझते हैं सरल भाषा मे domain नाम क्या होता होता हैं ।

इस chapter मे मैंने अच्छे से लिखा रखा आप इसे आराम से पढ़ें 

TLD (Top Level Domain): इस प्रकार के Domain जैसे official होते हैं ।

.comcommercial
.orgorganization
.netnetwork
.edueducation
.govU.S. national and state government agencies
.intinternational organizations


  CCTLD (Country Code Top-Level Domain): यह domain देश के लिए होते हैं ।

.inIndia
.jpjapan
.usUSA
.btBhutan 
.afAfghanistan
.ikShri Lanka 
.ukUK

 

gTLD (Generic top-level domain) :

(a)Infrastructure Domain: यह एक TLD डोमैन होते हैं । DNS infrastructure को बनाने मे मदद करता हैं । 

उदाहरण :  .arpa

(b)Sponsored Domain: यह Domain का इस्तेमाल industrial और business मे करते हैं ।

उदाहरण : .edu , .gov, .int , .mil, .jobs

(c)Generic Restricted: यह specific कम के लिए इस्तेमाल किया जाता हैं ।

उदाहरण:  .pro, .biz, .name

(d)Generic: general Purpose के लिए इस्तेमाल किया जाता हैं ।

उदाहरण : .com, .net, .org, .info

Second Level Domain (SLD): इस प्रकार के Domain जैसे double domain कहना गलत हैं पर उसमे होते हैं

.co.in, gov.in, nic.in etc.

SubDomain: यह Domain जब कोई भी Domain Name खरीद हैं। TLD का ही एक अंश होता हैं | उसी का हम अलग एक ओर domain बना सकते हैं बिलकुल मुफ्त 

जिसे हम child Domain भी कह सकते हैं । 

Blog.thegargya.com

Eng.thegargya.com.

Domain Name खरीदते समय ध्यान देने योग्य जानकारी ?

चलो हम समझते हैं सरल भाषा मे domain नाम क्या होता होता हैं ।

इस chapter मे मैंने अच्छे से लिखा रखा आप इसे आराम से पढ़ें 

  1. Domain Name आसानी से याद रहें।
  2. वह छोटा name होना चाहिए।
  3. Unique Name होना चाहिए ।
  4. आप जिस topic पर website बना रहे उसके जैसा भी नामे ओर भी ठीक है ।
  5. Domain Name मे कभी भी symbol , नंबर, हयपेन (-) का इस्तेमाल न करे उतना अच्छा है
  6. Domain Name long नही होना चाहिए ।
  7. अगर आप लोकल जगह पर अपना बिजनेस हो तो domain नाम संभल के चुनाव करें ।
  8. कुछ ऐसे Domain होते है जो बहुत ही कम बिकते है जैसे की .agency,.guru,buzz ओर भी कुछ ।
  9. Domain Name 67 अंको का होता है लेकिन हमे जितना छोटा रखेंगे उतना हमारे लिए बेहतर होगा ।
  10. Domain Name को लिमिटेड समय के बाद वापस Renew करवाना पड़ता पड़ता हैं
  11. कुछ domain ऐसे होते हैं जो बहुत ही बेकार होते हैं उनको कंपनी द्वारा बंद किया जाता हो ।
  12. जिसे हम access नही नही कर सकते हैं उसके लिए भी अलग एक तरीका हैं जिसे हम वीपीएन पद्धति कहते हैं ।
  13. जिस तरह Domain नाम खरीदते उसी तरह हमे होस्टिंग की भी जरूरत पड़ती हैं ।
  14. ICANN एक organization हैं जो domain provider को मान्यता देती है की वो domain name खरीद व बेच सकती हैं ।
  15. हमें domain name खरीदने से पहले यह जरूर देख ले की किसी कंपनी उसे खरीद तो नहीं लिया नही क्यो की इससे हमे अपनी वैबसाइट को Rank karwane या seo करवाने मे हमें बहुत परेशानी आएगी

Domain Name खरीदते समय ध्यान देने योग्य जानकारी ?

चलो हम समझते हैं सरल भाषा मे domain नाम क्या होता होता हैं ।

इस chapter मे मैंने अच्छे से लिखा रखा आप इसे आराम से पढ़ें 

कई blogger आपको .com खरीदने को कहेंगे पर मैं अपनी बात  करूंगा तो इससे कोई फर्क नही पड़ता हैं । अगर आप .com खरीदो या कोई ओर आप अपनी मेहनत से .कॉम को भी मात दे सकते हो ।

Close Menu